पहला दिन - 2 अप्रैल 2022: घटस्थापना/प्रतिपदा तिथि

नवरात्रि का पहला दिन घटस्थापना से प्रारंभ होता है, इस दिन धर्म शास्त्रों के अनुसार लाल रंग का महत्व बताया गया है। कहा जाता है कि लाल रंग जुनून, शुभता और बुराई पर अच्छाई का प्रतीक है। यह रंग मां शैलपुत्री का भी प्रिय माना गया है।

हिंदू धर्म शास्त्रों के अनुसार चैत्र नवरात्रि के द्वितीया तिथि पर रॉयल ब्लू क्या महत्व है जो ऊर्जा का प्रतिनिधित्व करता है। मां ब्रह्मचारिणी की दिव्य ऊर्जा को बढ़ाने के लिए इस दिन रॉयल ब्लू रंग का इस्तेमाल करें।

दूसरा दिन - 3 अप्रैल 2022:  द्वितीया

तीसरा दिन - 4 अप्रैल 2022: तृतीया

मान्यताओं के अनुसार पीला रंग आनंद और प्रफुल्लता का प्रतीक है। नवरात्रि के तीसरे दिन देवी चंद्रघंटा को पूजा जाता है। मान्यताओं के अनुसार इस दिन पीला रंग जीवन में नई खुशियां और उमंग लेकर आता है।

चौथा दिन - 5 अप्रैल 2022: चतुर्थी

नवरात्रि के चौथे दिन देवी कुष्मांडा की आराधना की जाती है। अष्टभुजा देवी को समर्पित नवरात्रि के चौथे दिन हरा रंग शुभ माना गया है। हरा रंग प्रकृति के साथ पौष्टिक गुणों और प्रजनन क्षमता का प्रतीक।

पांचवा दिन - 6 अप्रैल 2022: पंचमी

नवरात्रि की पंचमी तिथि पर ग्रे रंग का महत्व बताया गया है। मान्यताओं के अनुसार, ग्रे रंग बुराई के विनाश का प्रतीक है। स्कंदमाता को समर्पित पांचवे दिन ग्रे रंग का इस्तेमाल करना चाहिए। यह रंग सही दिशा दिखाता है और जीवन में से अंधकार को खत्म करता है।

छठा दिन - 7 अप्रैल 2022: षष्ठी

नारंगी रंग शांति चमक और ज्ञान का प्रतीक माना गया है। नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा में नारंगी रंग का इस्तेमाल करें।

सातवां दिन - 8 अप्रैल 2022: सप्तमी

नवरात्रि के सातवें दिन सफेद रंग शुभ माना गया है। यह रंग शांति और पवित्रता का प्रतिनिधित्व करता है। देवी कालरात्रि की पूजा के दिन सफेद रंग का इस्तेमाल करने से सकारात्मकता और पवित्रता बनी रहती है।

आठवां दिन - 9 अप्रैल 2022: अष्टमी

देवी महागौरी को समर्पित अष्टमी तिथि पर गुलाबी रंग का इस्तेमाल करना चाहिए। गुलाबी रंग प्रेम, दया और स्त्रीत्व का प्रतीक माना गया है। अष्टमी तिथि पर गुलाबी रंग का इस्तेमाल करने से मां महागौरी प्रसन्न होती हैं।

नौवां दिन - 10 अप्रैल 2022: नवमी

आसमानी नीला रंग शांति, स्थिरता, प्रेरणा, ज्ञान और स्वास्थ्य का प्रतिनिधित्व करता है। क्योंकि नवमी तिथि मां सिद्धिदात्री को समर्पित है, इस दिन आसमानी नीले रंग का इस्तेमाल करने से प्रेरणा, ज्ञान और स्वास्थ्य का आशीर्वाद प्राप्त होता है।

     JAI MATA DI       HAPPY NAVRATRI

     JAI MATA DI       HAPPY NAVRATRI